Top Story

India

India

World News

World News

Sports

Sports

Health

Health
Bollywood

Entertainment

Movies

Technology

मध्य प्रदेश के राज्यपाल बीजेपी के दिग्गज नेता जिसे मायावती राखी बाधा करती थी लालजी टंडन नहीं रहे

No comments
उत्तर प्रदेश की राजनीति में बीजेपी के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का मंगलवार को 85 साल की उम्र में निधन हो गया. लालजी टंडन ऐसे नेता थे, जिन्हें बसपा प्रमुख मायावती सत्ता में रहते हुए राखी बांधने उनके घर जाया करती थीं.

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का मंगलवार को लखनऊ में निधन हो गया है. लालजी टंडन का पिछले काफी द‍िनों से लखनऊ के मेदांता अस्‍पताल में इलाज चल रहा था. वो उत्तर प्रदेश की राजनीति में बीजेपी के दिग्गज नेता माने जाते थे. बीएसपी के भीतर ही नहीं बल्कि दूसरे दल के लोग भी मायावती को बहनजी ही बुलाते हैं. इन्हीं में से एक लालजी टंडन भी थे, जिन्हें बसपा प्रमुख मायावती बकायदा राखी बांधने उनके घर जाया करती थीं.

बसपा और बीजेपी के गठबंधन के पीछे लालजी टंडन की अहम भूमिका थी. लालजी टंडन कभी बसपा सुप्रीमो मायावती के मुंहबोले भाई हुआ करते थे. चौक की पुरानी गलियों में मायावती बतौर मुख्यमंत्री दो बार टंडन को राखी बांधने उनके घर गईं. 22 अगस्त 2002 को मुख्यमंत्री रहते हुए मायावती ने बीजेपी नेता लालजी टंडन को राखी बांधी थी. वो राखी भी कोई आम राखी नहीं बल्कि चांदी की राखी थी.

दरअसल, 1995 में लखनऊ का गेस्ट हाउस कांड के दौरान मायावती की जान खतरे में पड़ी, तब भाजपा नेता ब्रह्मदत्त द्विवेदी और लालजी टंडन मौके पर पहुंचे थे. बीजेपी नेता उमा भारती ने खुद एक बयान में कहा था कि ब्रह्मदत्त द्विवेदी और लालजी टंडन ने भाजपा कार्यकर्ताओं की मदद से मायावती उस समय बचाया था. इसके बाद मायावती ने बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाई थी और मुख्यमंत्री बनी थी. यहीं से मायावती और लालजी टंडन के बीच भाई-बहन का रिश्ता कायम हुआ.

मायावती लालजी टंडन को राखी बांधते हुए

लालजी टंडन को उत्तर प्रदेश की राजनीति में कई अहम प्रयोगों के लिए भी जाना जाता है. 90 के दशक में प्रदेश में बीजेपी और बसपा की गठबंधन सरकार बनाने में भी उनका अहम योगदान माना जाता है. इसके बाद लालजी 1996 से 2009 तक लगातार तीन बार चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे. बसपा सुप्रीमो मायावती उन्हें अपने बड़े भाई की तरह मानती थीं और राखी भी बांधा करती थीं. 1997 में वह प्रदेश के नगर विकास मंत्री रहे. लालजी टंडन के निधन पर मायावती ने ट्वीट कर अपनी संवेदना व्यक्त की है.

लालजी टंडन संघ से सियासत में आए और पार्षद से सांसद और राजभवन तक का सफर तय किया था. लालजी टंडन खुद कहा करते थे कि अटल बिहारी वाजपेयी ने राजनीति में उनके साथी, भाई और पिता तीनों की भूमिका अदा की है. अटल के साथ उनका करीब 5 दशकों का साथ रहा. इतना लंबा साथ अटल का शायद ही किसी और राजनेता के साथ रहा हो.

लालजी टंडन का जन्म 12 अप्रैल 1935 को हुआ था. अपने शुरुआती जीवन में ही लालजी टंडन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़ गए थे. उन्होंने स्नातक तक पढ़ाई की. इसके बाद 1958 में लालजी का कृष्णा टंडन के साथ विवाह हुआ. उनके बेटे गोपाल जी टंडन इस समय उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में मंत्री हैं. संघ से जुड़ने के दौरान ही पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से उनकी मुलाकात हुई. लालजी शुरू से ही अटल बिहारी वाजपेयी के काफी करीब रहे. यूपी की सियासत में लालजी टंडन की अहम भूमिका हुआ करती थी.

लालजी टंडन का राजनीतिक सफर साल 1960 में शुरू हुआ. टंडन दो बार पार्षद चुने गए और दो बार विधान परिषद के सदस्य रहे. 1978 से 1984 तक और 1990 से 1996 तक लालजी टंडन दो बार उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य रहे. इस दौरान 1991-92 में बीजेपी सरकार में मंत्री बने.

1996 से 2009 तक लगातार तीन बार चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे. कल्याण सिंह से लेकर राजनाथ सिंह तक की सरकार में मंत्री रहे और 2009 में लखनऊ से सांसद चुने गए. इसके बाद लालजी टंडन को साल 2018 में बिहार के राज्यपाल की जिम्मेदारी सौंपी गई थी और फिर कुछ दिनों के बाद मध्य प्रेदश का राज्यपाल बनाया गया था.

लालजी टंडन ने अपनी किताब 'अनकहा लखनऊ' में कई खुलासे किए. इसमें उन्होंने पुराना लखनऊ के लक्ष्मण टीले के पास बसे होने की बात कही थी. उन्होंने अपनी किताब में लिखा है कि लक्ष्मण टीला का नाम पूरी तरह से मिटा दिया गया है, अब यह स्थान टीले वाली मस्जिद के नाम से जाना जा रहा है. लालजी टंडन ने पार्षद से लेकर कैबिनेट मंत्री और दो बार सांसद तक का 8 दशक से अधिक का सामाजिक एवं सियासी सफर दर्ज किया है.

लालजी टंडन के अनुसार, लखनऊ के पौराणिक इतिहास को नकार 'नवाबी कल्चर' में कैद करने की कुचेष्टा के कारण यह हुआ. लक्ष्मण टीले पर शेष गुफा थी, जहां बड़ा मेला लगता था. खिलजी के वक्त यह गुफा ध्वस्त की गई. बार-बार इसे ध्वस्त किया जाता रहा और यह जगह टीले में तब्दील हो गई. औरंगजेब ने बाद में यहां एक मस्जिद बनवा दी.


बिहार में आज से फिर 15 दिनों का लॉकडाउन, जानिए गाइडलाइन और क्‍या मिलेगी छूट

No comments

बिहार:  ढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए बिहार में आज से 31 जुलाई तक फिर लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। 31 जुलाई तक लागू इस लॉकडाउन के दौरान पूरी सख्ती बरती जाएगी। अनावश्‍यक सड़क पर निकले लोगों के वाहन जब्त होंगे तो बिना मास्क पकड़े जाने पर जुर्माना भी भरना पड़ेगा। 



लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने का सख्त निर्देश


बिहार के मुख्य सचिव दीपक कुमार और पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने सभी जिलाधिकारियों और एसएसपी-एसपी के साथ वीडियो कांफ्रेंस कर लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने का निर्देश दिया है।

मुख्य सचिव ने अधिकारियों से कहा कि वे अपने क्षेत्र की स्थिति का आकलन बेहतर तरीके से कर सकते हैं। उन्हें पता है कि कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। इसे देखते हुए सरकार ने लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए राज्य में फिर से लॉकडाउन का फैसला किया है। अधिकारी इस दौरान पूरी सख्ती बरतें। आवश्यक काम से जाने वालों को बेवजह परेशान ना किया जाए, ना ही अनावश्यक घूमने वालों के प्रति नरमी दिखाई जाए। जिस मकसद के लिए लॉकडाउन लगाया गया है वह पूरा होना चाहिए।



जिनके पास अनुमति हो , उनपे नहीं बना सकते दबाव 

गृह विभाग के आदेश का हवाला देकर अधिकारियों को हिदायत दी गई कि नियमों का पालन कर जो दुकानें खुल रही हैं और जिन्हें इसके लिए अनुमति है, उन पर बंदी का दबाव ना बनाएं।


इनपर लगाया गया है प्रतिबंध


-कंटेनमेंट जोन में सभी तरह की गतिविधियां प्रतिबंधित रहेंगी।

- राज्य सरकार तथा भारत सरकार के कार्यालय, अर्धसरकारी कार्यालय और सार्वजनिक निगमों के कार्यालय बंद रहेंगे। सिर्फ बिजली, पानी, स्वास्थ्य, सिंचाई, खाद्य वितरण, कृषि एवं पशुपालन विभागों को छूट दी गई है।

-राजनीतिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और खेल गतिविधियां बंद रहेंगी।

- शॉपिंग मॉल भी बंद रहेंगे।


किसे मिली है छुट , जानिए 

- सभी अस्पताल और स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोगों और कार्यों को छूट दी गई है।

- फल, सब्जी, अनाज, दूध, मांस-मछली आदि के दुकानें खुली रहेंगी। हालांकि, प्रशासन इनकी होम डिलिवरी की हर संभव व्यवस्था करने की कोशिश करेगा।


- बैंक और एटीएम खुले रहेंगे।

- होटल, रेस्त्रां या ढाबे खुलेंगे, लेकिन वे केवल पैकिंग की सर्विस देंगे।

-रेल व हवाई सफर जारी रहेगा। आटो व टैक्सी पूरे राज्य में संचालित रहेंगे। जरूरी सेवाओं के लिए प्राइवेट गाड़ियों का संचालन किया जा सकता है। शेष ट्रांसपोर्ट सर्विस बाधित रहेगी।


 -मोबाइल शॉप, रिपेयरिंग शॉप, गैराज, मोबाइल रिपेयरिंग शॉप खोलने की अनुमति जिला प्रशासन के स्तर पर दी जा सकेगी।

- पुलिस, सुरक्षा और आपातकालीन सेवाएं खुली रहेंगी।


- सेना, केंद्रीय सुरक्षा बल, कोषागार, सार्वजनिक उपयोगिता (पेट्रोल, सीएनजी, एलपीजी), आपदा प्रबंधन, ऊर्जा क्षेत्र, डाकघर, बैंक, एटीएम और मौसम विभाग जैसी चेतावनी देने वाली एजेंसियां लॉकडाउन से मुक्त रहेंगी।

CBSE नतीजों पर नाखुश छात्रों से PM मोदी ने क्या कुछ कहा है, जानिए क्या सलाह दी

No comments
नयी दिल्ली: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने कल 10वीं का रिजल्ट जारी कर दिया है. इस बार दसवीं का रिजल्ट 91.46 प्रतिशत रहा है. वहीं इस रिजल्ट में जिन छात्रों के हाथ असफलता लगी है उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हौंसला दिया है। 

बता दें कि बुधवार को सीबीएसई ने 10वीं का रिजल्ट जारी किया है. इसमें लड़कियों के पास होने का परसेंटेज लड़कों की तुलना में 3.17 फीसदी अधिक रहा और कुल 91.46 फीसदी छात्र पास हुए।  
इस साल 10वीं कक्षा में कुल 91.46 फीसदी छात्र पास हुए, जबकि 2019 में 91.10 फीसदी छात्र पास हुए थे. यानी, पिछले साल की तुलना में इस साल 0.36 फीसदी अधिक छात्र पास हुए। 



पीएम मोदी ने ट्वीट कर ऐसे छात्रों को निराश न होने की सलाह दी.






मोदी ने ट्वीट के जरिए कहा, "10वीं और 12वीं की सीबीएसई परीक्षा में पास मेरे युवा साथियों को बधाई. मैं आप सभी के उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं." उन्होंने कहा कि जो इन परिणामों से खुश नहीं हैं उनसे वे कहना चाहते हैं कि एक परीक्षा यह परिभाषित नहीं करती कि वे कौन हैं. पीएम मोदी ने कहा, "आप सभी में प्रतिभा कूट-कूट कर भरी हुई है. जिंदगी को जी भर कर जियें. उम्मीद का दामन कभी मत छोड़िये, हमेशा भविष्य की ओर देखिए. आप सब चमत्कार करोगे."



पति-पत्नी पर लाठीचार्ज के वायरल वीडियो पर शिवराज की कार्रवाई, कलेक्टर-एसपी और आईजी को हटाया

No comments
भोपालः मध्यप्रदेश के गुना में सरकारी जमीन पर खेती कर रहे किसान पति-पत्नी ने आत्महत्या की कोशिश करने की घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।
 


शिवराज सरकार ने जिले के कलेक्टर, एसपी और ज़ोन के आईजी को हटाकर घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए हैं। 


वायरल विडियो को ज्योतिरादित्य सिंधिया के गुना जिले से जोड़ कर सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा था, 
\जिसके बाद सिंधिया ने सीएम शिवराज से इस बारे में बात की और देर रात अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गयी.


क्या है पूरा माजरा? 

गुना के सरकारी पीजी कॉलेज की जमीन पर राजकुमार अहिरवार लंबे समय से खेती कर रहे थे,दो दिन पहले गुना प्रशासन के अधिकारी पुलिस दल के साथ सरकारी जमीन पर अतिक्रमण हटाने पहुंचे थे। 

मंगलवार दोपहर अचानक गुना नगर पालिका का अतिक्रमण हटाओ दस्ता एसडीएम के नेतृत्व में यहां पहुंचा और राजकुमार की फसल पर जेसीबी चलवाना शुरू कर दिया.


राजकुमार ने विरोध किया तो पुलिस ने उसे पकड़ लिया. राजकुमार ने इस दौरान बताया कि ये उसकी पैतृक जमीन है और यहीं उसके दादा-परदादा के वक्त से ही खेती करते आ रहे हैं. अहिरवार ने साथ ही माना कि उसके पास जमीन का पट्टा नहीं है.


कर्ज लेकर कर रहे थे खेती 

अहिरवार के बाद उसकी पत्नी ने भी जान देने की कोशिश की. इसी दौरान, अतिक्रमण हटाने आए दस्ते के लोगों ने दोनों को पकड़ने का प्रयास किया, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी. बाद में दोनों को जबरन अस्पताल पहुंचाया गया.


उन्होंने कहा कि जब जमीन खाली पड़ी थी तो कोई नहीं आया और फिर उन्होंने 4 लाख रुपए का कर्ज लेकर बुवाई की. उन्होंने कहा कि अब जब फसल अंकुरित हो आई है, तो इस पर बुल्डोजर न चलाया जाया. अहिरवार ने कहा कि उनके परिवार में 10-12 लोग हैं और ऐसे में उनके पास आत्महत्या के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं है.

इस घटना के बारे में गुना तहसीलदार निर्मल राठौर ने कहा, “भूमि की नाप के बाद जब जेसीबी से कब्जा हटाया जा रहा था. उस वक्त जो बटाईदार हैं, उन्होंने किसी जहरीली वस्तु का सेवन कर लिया. उन्हें इलाज के लिये अस्पताल भेज दिया गया है.” 

अस्पताल में राजकुमार की पत्नी की हालत नाजुक बताई जा रही है। 


अमेरिकी सांसदो ने लिखा ट्रम्प को पत्र, भारत की तरह कदम उठाने के लिए कर रहे प्रयास

No comments
25  अमेरिकी सांसदो ने ट्रम्प को पत्र लिखकर कहा है कि भारत ने टिक-टॉक सहित 59 apps को बन करके बड़ा कदम उठाया है ,
अतः आप भी डेटा और राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान मे रखते हुए इन apps पर बड़ा फैसला ले। 

ट्विटर पे अबतक का सबसे बड़ा साइबर हमला , बराक ओबामा , जेफ बेज़ोस , और एप्पल जैसे ब्लू ट्रिक वाले बड़े यूजर के अकाउंट हैक हुए |

No comments

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पे अबतक का सबसे बड़ा साइबर अटैक हुआ है , जिसमें दर्जनों अकाउंट को हैकर्स ने निशाना बनाया , सभी अकाउंट पे लगभग एक तरह की पोस्ट हुई थी जिसमें बिटकॉइन से पैसे दोगुना करने की बात कही गई है , ट्विटर ने इस में कहा जल्द ही जांच होगी और सब पहले जैसे हो जाएगा
पूरा मामला 
दुनिया के दिग्गज नेताओं, सेलेब्रिटी, कारोबारी और कंपनियों के ट्विटर अकाउंट को हैक कर लिया गया. 15 जुलाई की रात को. जिन अकाउंट्स को निशाना बनाया गया उनमें माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक बिल गेट्स, टेस्ला के सीईओ एलन मस्क, अमेरिकी रैपर कान्ये वेस्ट, अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा, इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू, वॉरेन बफेट, ऐपल, ऊबर समेत और कई ट्विटर अकाउंट थे.


टेस्ला के प्रमुख एलन मस्क के अकाउंट से किए गए ट्वीट में कहा गया कि अगले एक घंटे तक बिटकॉइन में भेजे गए पैसों को दोगुना करके वापस लौटाया जाएगा.

हैकरों ने  माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक बिल गेट्स के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया, ‘हर कोई मुझसे समाज को वापस देने को कह रहा है और अब समय आ गया है. मैं अगले 30 मिनट तक बीटीसी एड्रेस पर भेज गए सभी पेमेंट को दोगुना कर रहा हूं. आप एक हजार डॉलर भेजिए और मैं आपको दो हजार डॉलर वापस भेजूंगा.’ ऐपल के अकाउंट से भी इसी तरह का ट्वीट किया गया

फिलहाल अभी तक पता नहीं चल पाया किसने ऐसा किया है .

डॉ कफील खान की आज सुनवाई थी , टाल दी गई, कारण जाने

No comments

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में भड़काऊ भाषण देने के आरोप में  डॉक्टर कफील खान पर लगायी गई थी  एनएसए , बता दें कि एएमयू में सीएए को लेकर 15 दिसंबर को हुए बवाल के बाद गोरखपुर मेडिकल कॉलेज से डॉक्टर कफील खान छात्रों के समर्थन में विश्वविद्यालय पहुंचे थे। इस मामले में सुनवाई आज उच्च न्यायालय इलाहाबद में  होनी थी लेकिन टाल दी गई  ।
कारण
बताया जा रहा उच्च न्यायालय में कोरोना संक्रमित पाए जाने के वजह से आज पूरे उच्च न्यायालय को सेनेटाइज किया जा रहा है , इस वजह से डॉ काफिल खान की सुनवाई आज टल गई

कानपुर पुलिस के सामने से किडनैपर 30 लाख रुपया ले के फरार घर बेच के परिजन पैसा इकट्ठा किए थे

No comments

पिछले कुछ दिनों से कानपुर की पुलिस काफ़ी चर्चा में है विकास दुबे कांड के वजह से अब एक नया मामला सामने आया है एक परिवार ने 14 जुलाई को SSP office के सामने धरना दिया , कारण परिवार के एक सदस्य का 22 दिन पहले अपहरण हो गया था और अभी तक पुलिस अपहरण करने वालो तक नहीं पहुंच पाई आरोप ये भी है कि पुलिस की मौजूदगी में किडनैपर 30 लाख रुपया लेके फरार हो गया और पुलिस कुछ नहीं कर पाई
पूरा मामला
मामला कानपुर के बर्रा इलाके का है., 22 जून की शाम संजीत यादव नाम का एक व्यक्ति गायब हो गया. वो 29 बरस का था. बर्रा का रहने वाला था. एक पैथोलॉजी लैब में काम करता था. काम से ही शाम के वक्त घर लौट रहा था, लेकिन घर पहुंचा नहीं. फिर कुछ दिन बाद उसके परिवार के पास एक फोन आया. कॉल करने वाले ने बताया कि संजीत को उसने किडनैप कर लिया है. उसे छोड़ने के बदले में 30 लाख रुपए मांगे. 15 बार फोन किया.संजीत के परिवार से रंजय सिंह ने बात की. संजीत की बहन रुचि ने बताया कि जब उन्होंने पुलिस को किडनैपर के कॉल के बारे में जानकारी दी, तब गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करके पुलिस ने उनसे कहा,
की पैसों का इंतजाम करके आप किडनैपर को देने जाए और हम उसी वक्त उस पकड़ लेंगे
ये पुलिस की प्लानिंग थी , और उन्होंने किया भी ऐसे ही किडनैपर के बताए जगह पे पैसे लेकर पुलिस के साथ उनके पिता पहुंच गए , किडनैपर ने हाईवे के नीचे पैसे फेकने को कहा उन्होने पैसे फ़ेंक दिए और किडनैपर पैसा लेके भाग गया पुलिस पकड़ नहीं पाई
रूचि ( संजीत की बहेन )मीडिया से बताया
“पुलिस ने पैसों का इंतज़ाम करने कहा, तो हमने हमारा घर बेच दिया. मेरी शादी के लिए जो पैसे जोड़कर रखे थे, वो लगा दिए. गहने बेच दिए. पैसे बैग में रखकर मेरे पिता किडनैपर को देने गए. 30 मिनट तक किडनैपर उनसे फोन पर बात करता रहा. हाईवे पर बुलाया. पुलिस को क्या इतना समझ नहीं आ रहा था कि वो हाईवे से नीचे बैग फेंकने कह सकता है. हमने तो साउथ SP (सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस) अपर्णा मैम से भी कहा था कि वो बैग में कोई चिप लगा दें, ताकि असली किडनैपर तक पहुंचा जा सके. लोकेशन का पता चले. मैडम ने हमें हड़का दिया था, कहा था कि इतनी छोटी-छोटी बातें लेकर क्यों आ रही हो. हमारे पैसे चले गए, भाई भी नहीं आया. मुझे मेरा भाई चाहिए.”

उत्तर प्रदेश मे कोरोना हेल्पलाइन 112 सेवा हुई बन्द , सभी कर्मचारी निकले कारोना पॉजिटिव

No comments

उप्रदेश की कोरोना वायरस हेल्पलाइन सेवा पिछले 4 महीनों से बहुत अच्छा काम कर रही थी ,
रोज लगभग 75000 से भी ज्यादा लोगो की समस्याएं सुनी जाती थी
 लेकिन अब ये सेवा अनिश्चितकाल के लिए बन्द कर दिया गया है , कारण इसके सभी कर्मचरी कारोना संक्रमित हो गए हैं,

The Times of India की रिपोर्ट के मुताबिक़, 20 जून को लखनऊ में इस हेल्पलाइन सेवा के 10 सदस्यों के कोरोना टेस्ट पॉज़िटिव आए थे.

 इसके दो दिन बाद ग़ाज़ियाबाद हेल्पलाइन सेवा के 11 सदस्य कोरोना पॉज़िटिव पाए गए. इसके बाद 'हेल्पलाइन 112' के तकनीकी विशेषज्ञ ब्रजेश गुप्ता ने इस मामले को अपने हाथ में ले लिया, लेकिन 20 जून को ब्रजेश भी कोरोना पॉज़िटिव पाए गए.

ये सेवा अब दुबारा कब खुलेगी इसके बारे में प्रशासन ने अभी कोइ जानकारी नहीं दिया है 

बीजेपी ऑफिस बिहार में 75 नेताओं की रिपोर्ट्स कोरोना पॉजिटिव आयी !

No comments

बिहार से बड़ी खबर सामने आ रही है भाजपा के 75 नेताओ के पॉजिटिव पाया गया ,
जिन नेताओ में को’रोना सं’क्र’मण की पुष्टि हुई है। उनमें संगठन मंत्री नागेंद्र नाथ, प्रदेश महामंत्री देवेश कुमार, प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश वर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष राधा मोहन शर्मा व अन्य पार्टी पदाधिकारी शामिल हैं। इस मामले में बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा कि अभी 24 नेताओं की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉ’जिटि’व आई है। इनमें से किसी को किसी भी प्रकार का कोई लक्षण नहीं था। सभी को होम क्वॉ’रेंटाइन रहने के लिए कह दिया गया है। बिहार में होने वाले विधासभा चुनाव को लेकर भाजपा दफ्तर में लगातार वर्चुअल में रैलीया की जा रही थी

इस मामले में राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और प्रतिपक्ष नेता तेजस्वी यादव ने बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि ‘कौन से ज’मात के हैं यह बताएं बीजेपी वाले’। पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा वालों ने वर्चुअल रैली के जरिए कोरोना वाय’रस फैलाया गया।
पार्टी ऑफिस में पुरी तरह भीड़ के वजह से संगठन महामंत्री और प्रदेश उपाधयक्ष समेत 75 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए ।

3 बार आल इंडिया, 9 नेशनल ओर 24 बार स्टेट खेलने वाली खिलाड़ी कर रही है मनरेगा में दिहाड़ी

No comments
3 बार आल इंडिया, 9 नेशनल ओर 24 बार स्टेट खेलने वाली खिलाड़ी कर रही है मनरेगा में दिहाड़ी


 बेहतरीन खेल नीति का दम भरने वाली हरियाणा सरकार में राष्ट्रीय खिलाड़ियों की ऐसे अनदेखी होगी किसी ने सोचा भी नही होगा। रोहतक जिले के इंदरगढ़ गांव की रहने वाली राष्ट्रीय वुशु खिलाड़ी शिक्षा इन दिनों तंगी की हालत में मनरेगा में मजदूरी कर रहीं है। खुद की मनरेगा कॉपी न बनने के कारण शिक्षा माता-पिता की सहायता करवाती है और 2 रोटी के लिए संघर्ष कर रही है।

शिक्षा सुबह 6 बजे कंधों पर कस्सी लादकर माता-पिता के साथ मनरेगा में मजदूरी का काम करने जाती है और जी तोड़ मेहनत कर दो पैसों का इंतजाम करती है। लॉकडाउन के दौर में सब कुछ बंद है काम धंधे ठप है ऐसे में सरकार द्वारा शुरू की गई मनरेगा स्कीम के तहत मजदूरों का गुजारा हो रहा है। यही नहीं शिक्षा को जब मनरेगा में काम नही मिलता या मनरेगा का काम बंद हो जाता है तो खेत मे काम करती है। शिक्षा दूसरे मजदूरों की तरह ही खेत मे धान लगाने का काम करती है। इससे पहले भी माता-पिता ने दिहाड़ी मजदूरी कर बेटी को चैम्पियन बनाया और इस मुकाम तक पहुंचाया है। शिक्षा तीन बार ऑल इंडिया 9 बार राष्ट्रीय चौंपियन और 24 बार स्टेट में चैम्पियन रह चुकी है। शिक्षा वुशु में हरियाणा में गोल्ड मेडलिस्ट भी रह चुकी है ऐसे में सरकार द्वारा शिक्षा की कोई सहायता नहीं की गई है जिसके बाद लॉकडाउन में शिक्षा मनरेगा में काम करने पर मजबूर है।

दूसरी ओर राष्ट्रीय चैम्पियन की हालत पर माता-पिता का कहना है कि बेटी को इस मुकाम तक पहुंचाने में बड़ी मेहनत लगी। उन्होंने कहा कि बेटी को दिहाड़ी मजदूरी करके ही पढ़ाया लिखाया और खिलाड़ी बनाया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि पेट भरने के लिए दिहाड़ी करनी पड़ती है जिसमें बेटी हाथ बटाती है। तो वहीं दूसरी ओर वुशु खिलाड़ी शिक्षा का कहना है कि मजबूरी में मजदूरी करनी पड़ती है।

Google Play Store 25 एंड्रॉइड ऐप्स को बाहर निकालता है क्योंकि वे फेसबुक लॉगिन जानकारी चोरी करते पकड़े गए थे

1 comment

Google Play Store से एप्लिकेशन निकालने की होड़ में है। कंपनी ने एंड्रॉइड स्टोर पर सिर्फ 25 ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया है क्योंकि वे उपयोगकर्ताओं की फेसबुक जानकारी चोरी करते पकड़े गए थे। ये ऐप यूजर के फेसबुक क्रेडेंशियल्स को चुराने के लिए 'लॉगिन विद फेसबुक' फीचर का फायदा उठा रहे थे।  
ये एप्लिकेशन Google Play Store पर लंबे समय से सामूहिक रूप से 2.3 मिलियन डाउनलोड को पार करने के लिए हैं। हालांकि यह संख्या उतनी बड़ी नहीं है, लेकिन वहां पर अरबों स्मार्टफोन उपयोगकर्ता हैं, लेकिन फिर भी यह बहुत बड़ा प्रभाव होगा।

डाउनलोड की संख्या केवल इसलिए अधिक थी क्योंकि इन अनुप्रयोगों ने वैध कार्यक्षमता प्रदान की थी। हालांकि, संबंधित डेवलपर्स ने ऐप्स में दुर्भावनापूर्ण कोड इंजेक्ट किए।
इन ऐप्स में निम्नलिखित शामिल थे:
  • Wallpaper Level
  • Padenatef
  • Super Wallpapers Flashlight
  • Video Maker
  • Contour Level Wallpaper.
  • Color Wallpapers
  • Pedometer
  • iPlayer
  • iWallpaper
  • Powerful Flashlight
  • Super Bright Flashlight 
  • Solitaire Game
  • Super Flashlight
  • File Manager
  • Classic Card Game
  • Junk File Cleaning
  • Synthetic Z
  • Accurate Scanning of QR Code
  • Health Step Counter
  • Composite Z
  • Anime Live Wallpaper
  • Daily Horoscope Wallpapers
  • Screenshot Capture
  • Plus Weather
  • Wuxia Reader

ये ऐप इतने सहज तरीके से काम कर रहे हैं कि किसी भी उपयोगकर्ता ने कभी नहीं सोचा था कि ये ऐप उनकी जानकारी चुरा रहे हैं। ऐप में लॉगिन करने की कोशिश करने पर, ऐप मूल रूप से एक नकली फेसबुक लॉगिन स्क्रीन को पॉप अप करता है जो असली को ओवरले करेगा। जैसे ही लोग अपनी साख दर्ज करते हैं, जानकारी सीधे फेसबुक सर्वर से सत्यापित होने के बजाय ऐप के सर्वर पर चली जाएगी। 
यह मूल रूप से जनता पर एक फ़िशिंग हमला था। जानकारी को सुरक्षा शोधकर्ताओं ने ट्रैक किया और उन्होंने इसके बारे में Google को बताया। 

कानपुर शूटआउट का मास्टरमाइंड विकास दुबे उज्जैन मंदिर से गिरफ्तार

No comments


विकास दुबे पुलिस की गिरफ्त में  कानपुर शूटआउट के मोस्ट वॉन्टेड विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है. बताया जा रहा है कि विकास दुबे ने मीडिया और पुलिस को बुलाकर सरेंडर किया है.

कानपुर शूटआउट के मोस्टवॉन्टेड विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है. बताया जा रहा है कि विकास दुबे ने महाकालेश्वर मंदिर की पर्ची कटाई और इसके बाद खुद ही सरेंडर कर दिया. फिलहाल, स्थानीय पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है. यूपी पुलिस ने विकास दुबे की गिरफ्तारी की पुष्टि की है.

बताया जा रहा है कि विकास दुबे ने बकायदा स्थानीय मीडिया को अपने सरेंडर की खबर दी थी. इसके बाद उज्जैन के महाकाल थाने के पास उसने स्थानीय पुलिस के सामने सरेंडर किया है. पुलिस ने आरोपी विकास दुबे को गिरफ्तार कर लिया है और उसे महाकाल थाने में लेकर आई है. सरेंडर की खबर के बाद एसटीएफ की टीम उज्जैन रवाना हो गई है.


मंदिर के बाहर चिल्लाया मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला

बताया जा रहा है कि विकास दुबे महाकाल मंदिर के सामने खड़ा था. जैसे ही वहां स्थानीय मीडिया पहुंची तो उसने चिल्लाया कि मैं विकास दुबे हूं, कानपुर वाला. इसके बाद स्थानीय पुलिस भी मौके पर पहुंच गई. तुरंत उसे गिरफ्तार किया गया और सीधे महाकाल थाने लाया गया है, जहां उससे पूछताछ की जा रही है.

गिरफ्तारी को लेकर बयान देने से बच रहे गृह मंत्री

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि अभी विकास दुबे मध्य प्रदेश पुलिस की कस्टडी में है. गिरफ्तारी कैसे हुई? इसके बारे कुछ भी कहना ठीक नहीं है. मंदिर के अंदर से या बाहर से गिरफ्तारी को लेकर कहना भी ठीक नहीं है. उसने क्रूरता की हदें शुरू से ही पार कर दी थी. वारदात होने के बारे से ही हमने पुलिस को अलर्ट पर रखा था.

यूपी पुलिस को चकमा दे पहुंचा उज्जैन

2 जुलाई की रात आठ पुलिसकर्मियों की हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले विकास दुबे की तलाश में पूरे उत्तर प्रदेश को छावनी में तब्दील कर दिया गया था. इसके बावजूद न केवल विकास दुबे पुलिस को गच्चा देता रहा, बल्कि वह हरियाणा से लेकर मध्य प्रदेश तक घूमता रहा.

विकास दुबे की गिरफ्तारी पर बोले एमपी के गृह मंत्री मंदिर को बीच में ना लाएं

यूपी पुलिस की टीम ने दिल्ली-एनसीआर में डेरा डाला तो विकास दुबे उज्जैन भाग गया. अब सवाल उठता है कि आखिर पूरे प्रदेश को छावनी में तब्दील करने और 50 से अधिक टीमें लगाने के बाद भी विकास दुबे उज्जैन कैसे पहुंचा और उसकी किसने मदद की. फिलहाल, यूपी पुलिस की टीम उज्जैन रवाना हो गई है.

सीएम शिवराज सिंह ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से की बात

विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से बात की है. बताया जा रहा है कि शिवराज सिंह ने विकास दुबे को यूपी पुलिस को हैंडओवर करने का भरोसा दिया है. अब यूपी पुलिस ट्रांजिट रिमांड लेकर विकास दुबे को उत्तर प्रदेश लाएगी.

चीन का आर्थिक बहिष्कार: हीरो साइकिल ने दिया चीन को बड़ा झटका, रद्द की 900 करोड़ की डील

No comments

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद से भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव की स्थिति बनी हुई है. इस घटना के बाद से देश में हर मोर्चे पर चीन का विरोध हो रहा है. कई बड़ी कंपनियों ने इस खूनी संघर्ष के बाद चीन के साथ अपने कॉन्ट्रैक्ट समाप्त किए हैं. इसी कड़ी में साइकिल बनाने वाली कंपनी हीरो साइकिल ने भी बड़ा फैसला लेते हुए चीन के साथ अपनी 900 करोड़ रुपये की डील रद्द कर दी. इससे पहले देशहित में बड़ा फैसला लेते हुए हीरो साइकिल ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार को 100 करोड़ रुपये दान में दिए थे.

चीनी उत्पादों का बहिष्कार करना हमारी प्रतिबद्धता है- हीरो साइकिल

हीरो साइकिल के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर पंकज मुंजाल ने कहा कि कंपनी को चीन के साथ 900 करोड़ रुपये का कारोबार करना था, लेकिन अब उन योजनाओं को रद्द कर दिया गया है. यह फैसला चीनी उत्पादों के बहिष्कार के तौर पर लिया गया है.

उन्होंने कहा, "आने वाले 3 महीनों में हमें चीन के साथ 900 करोड़ रुपये का कारोबार करना था, लेकिन हमने उन सभी योजनाओं को अब रद्द कर दिया है. चीनी उत्पादों का बहिष्कार करना हमारी प्रतिबद्धता है."

चीनी सामान का बहिष्कार संभव- मुंजाल

मुंजाल ने कहा कि हीरो साइकिल अब जर्मनी में अपना प्लांट लगाने जा रही. उन्होंने बताया कि बीते दिनों साइकिल की डिमांड बढ़ी है और हीरो साइकिल की तरफ से अपनी कैपेसिटी भी बढ़ाई गई है. हालांकि, इस दौरान साइकिल की छोटी कंपनियों को नुकसान भी हुआ है. ऐसे में हीरो साइकिल उनकी भरपाई के लिए तैयार है.

उन्होंने आगे कहा कि चीनी सामान का बहिष्कार आसानी से किया जा सकता है. जब भारत में कंप्यूटर बन सकते हैं, तो साइकिल क्यों नहीं. भारत में हर तरह की साइकिल का निर्माण संभव है.

#Prabhas20: UV Creations की पहली रिलीज़ डेट की घोषणा!

No comments

# प्रभास 20 सबसे बहुप्रतीक्षित फिल्मों में से एक है जो प्रशंसकों और आलोचकों द्वारा समान रूप से प्रतीक्षित है। जब से COVID-19 महामारी के प्रकाश में राष्ट्रव्यापी तालाबंदी की घोषणा की गई है, प्रभास के प्रशंसक बेचैन हो गए हैं और सोशल मीडिया पर ले गए, जिसमें निर्माताओं से # Prabhas20 के लिए पहला लुक जारी करने की मांग की गई।  सरकार ने लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढील देने और टॉलीवुड के लिए पोस्ट प्रोडक्शन और प्रोडक्शन कार्यों को फिर से शुरू करने की अनुमति देने के साथ, प्रभास के प्रशंसकों को अंत में उन्हें खुश करने के लिए कुछ स्वागत योग्य समाचार हैं।  
यूवी क्रिएशंस, # प्रभास 20 के पीछे के प्रोडक्शन हाउस ने आखिरकार # प्रभास 20 के फर्स्ट लुक की रिलीज़ डेट की घोषणा कर दी है।  के फिल्म निर्माताओं # Prabhas20 माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफार्म ट्विटर में ले गया, के फर्स्ट लुक की घोषणा करते हुए # Prabhas20 जो 10 जुलाई को जारी की जाएगी। पहला लुक जारी होने में केवल दो दिन बचे हैं और हमें यकीन है कि प्रभास के प्रशंसक अपने नायक के पोस्टर की प्रत्याशा में # प्रभास 20 को ट्रेंड करना शुरू कर देंगे 

विकाश दुबे का करीबी 25 हज़ार का ईनामी अमर दुबे हमीरपुर एनकाउंटर में ढेर

No comments
*29 जून को हुई थी शादी 
*विजय दुबे की करीबी मरा गया
*हमीरपुर के मौदहा में हुआ एनकाउंटर  


मोस्ट वांटेड विकास दुबे की तलाशी के दौरान उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में पुलिस का बड़ा एक्शन हुआ है. हमीरपुर के मौदाहा में मुठभेड़ में पुलिस ने विकास दुबे का दाहिना हाथ माने जाने वाले अमर दुबे को मार गिराया है. अमर को विकास दुबे गैंग का शातिर बदमाश माना जाता है.

2 जुलाई की रात कानपुर देहात के बिकरू गांव में शूटआउट के मामले में भी अमर दुबे की तलाश थी. यूपी पुलिस ने जिन अपराधियों की तस्वीरें जारी की थी, उसमें अमर दुबे का नाम सबसे ऊपर था. पुलिस ने उस पर 25 हजार का इनाम भी घोषित किया था. एक न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक, वो मुख्य आरोपी विकास दुबे का चचेरे भाई का लड़का था.

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वो विकास के पर्सनल बॉडी गार्ड का भी काम करता था. वो हमेशा असलहे से लैस रहता था. पुलिस को अमर के विकास दुबे के साथ ही भागने की जानकारी तब हुई जब पुलिस को उसकी फोर्ड कार औरैया-दिबियापुर हाइवे पर मिली थी. कार के अंदर मिले दस्तावेजों से अमर के लखनऊ स्थित घर का पता चला था.
29जून को हुई थी शादी

एनकाउंटर में मारे गए अमर दुबे की इसी 29 जून को शादी हुई थी. अमर दुबे, विकास के चचेरे भाई संजय दुबे का बेटा है. अमर के सगे चाचा अतुल और विकास दुबे के मामा प्रेम प्रकाश का 3 जुलाई को पुलिस ने बिकरू गांव के पास एनकाउंटर किया था. अमर अपने चाचा अतुल दुबे के साथ विकास दुबे का मुख्य शूटर था.

हमीरपुर के एसपी श्लोक कुमार का कहना है कि अमर दुबे की छिपे होने की सूचना पर पुलिस टीम ने घेराबंदी की थी. इस दौरान अमर ने फायरिंग शुरू कर दी. जवाबी एनकाउंटर में वह मार गिराया गया. उसके पास से एक ऑटोमेटिक हथियार और बैग मिला है. इस एनकाउंटर में एसओ और एसटीएफ के एक कॉन्स्टेबल को गोली लगी है.

पुलिस कैसे की एनकाउंटर

इस बीच एसटीएफ विकास दुबे को तो नहीं पकड़ पाई लेकिन उसने प्रभात और अंकुर नाम के उसके दो करीबियों को गिरफ्तार कर लिया है. अंकुर के बारे में बताया जाता है कि उसी ने फरीदाबाद में विकास दुबे के छिपने में मदद की थी. वो विकास दुबे के लिए होटल बुक करने की कोशिश कर रहा था.

कानपुर हत्याकांड : फरीदाबाद में दिखा विकास दुबे, राइट हैंड ढेर, पिछले 24 घंटे में धरे जा चुके हैं तीन साथी

No comments

कानपुर: कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों को कत्ल करने का आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे को मंगलवार को दिल्ली से सटे हरियाणा के फरीदाबाद में एक होटल में देखा गया. लेकिन जब पुलिस वहां छापा मारने पहुंची तो वह वहां से निकल चुका था. इसके बाद गुरुग्राम में भी हाइअलर्ट जारी कर दिया गया. पुलिस का कहना है कि वह दिल्ली-एनसीआर में ही कहीं छिपा हुआ है. उसकी तलाश की जा रही है. पुलिस ने फरीदाबाद से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. सूत्रों के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए शख्स के नाम अंकुर और प्रभात हैं. ये दोनों विकास दुबे (Vikas Dubey) के साथी बताए जा रहे हैं. पुलिस ने इनके पास से चार पिस्टल भी बरामद की है.

जानें, गैंगस्टर विकास दुबे मामले में पिछले 2 दिन में क्या-क्या हुआ?

  1. कानपुर हत्याकांड  में फरार मुख्य आरोपी विकास दुबे के खिलाफ पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है. चौबेपुर में हुई आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में पुलिस विकास दुबे और उसके साथियों की धर पकड़ कर रही है.
  2. कुख्यात अपराधी विकास दुबे अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. दिल्ली-एनसीआर में खोज की जा रही है. इस बीच, कयास लगाए जा रहे हैं कि विकास दुबे दिल्ली-एनसीआर की किसी अदालत में सरेंडर कर सकता है.
  3. कुख्यात अपराधी को पकड़ने में लगी स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने कंफर्म किया है कि फरीदाबाद में जो शख्स सीसीटीवी में दिख रहा है वो विकास दुबे है.
  4. फरीदाबाद से गिरफ्तार 2 लोगों में  एक का नाम अंकुर और दूसरे का नाम प्रभात है. कहा जा रहा है कि अंकुर ने विकास दुबे को छिपाने में मदद की जबकि प्रभात विकास दुबे के गांव का रहने वाला है. 
  5. गिरफ्तार किए गए अंकुर और प्रभात, विकास दुबे (Vikas Dubey) के साथी बताए जा रहे हैं. पुलिस ने इनके पास से चार पिस्टल भी बरामद की है.
  6. गांव से विकास दुबे, प्रभात और हमीरपुर में मारा गया अमर दुबे साथ आये थे, लेकिन अमर वापस चला गया था. बुधवार सुबह पुलिस ने एक एनकाउंटर के दौरान अमर दुबे को हमीरपुर में मार गिराया है. 
  7. वहीं, पुलिस ने बुधवार सुबह विकास दुबे के साथी श्यामू वाजपेयी कानपुर में पकड़ लिया है. इसके सिर पर 25 हजार रुपये का ईनाम था.
  8. पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोप में मुख्य आरोपी विकास दुबे के अलावा 18 अन्य नामजद अभियुक्त भी हैं. इन पर 25,000-25,000 रुपये का इनाम रखा गया है. वहीं, विकास दुबे पर इनाम की राशि को बढ़ाकर 2.5 लाख कर दिया गया है. 
  9. गुरुग्राम कमिश्नर ने अलर्ट जारी कर कहा कि विकास टैक्सी या ऑटो से फरीदाबाद से गुरुग्राम आ सकता है. वो लंगड़ा रहा है. पुलिस का प्रयास है कि जिले की सीमा से बाहर वो निकल नहीं पाए.
  10. दिल्ली पुलिस को भी अलर्ट पर रखा गया है. गौरतलब है कि पुलिस ने पूरे मामले में मंगलवार को तीन और लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. इस तरह इस कांड में अब तक 4 लोग गिरफ्तार हो गए हैं. गिरफ्तार हुए तीन लोगों के नाम सुरेश वर्मा, क्षमा दुबे और रेखा अग्निहोत्री है.

पिछले 24 घंटे में सामने आए 22,752 नए COVID-19 मामले, देश में कुल 7,42,417 कोरोना मरीज़ हुए

No comments

नई दिल्ली: 
दुनियाभर में सबसे ज्यादा कोरोनावायरस के मामलों में तीसरे नंबर पर चल रहे भारत में इस वायरस से कुल संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ती ही जा रही है. बुधवार यानी 8 जुलाई को देश में पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 22,752 नए केस सामने आए हैं, वहीं 482 लोगों की मौत हुई है. ये नए केस सामने आने के बाद से देश में कोरोनावायरस के कुल 7,42,417 मामले हो गए हैं, वहीं देश में कुल मौत का आंकड़ा 20,642 पर पहुंच गया है. अब तक देश में कोविड-19 से ठीक होने वाले कुल मरीजों की संख्या 4,56,831 हो चुकी है. फिलहाल देश में रिकवरी रेट 61.53% पर चल रहा है. वहीं पॉजिटिविटी रेट 8.66 फीसदी पर है. यानी जितने सैंपलों की टेस्टिंग हो रही है, उसमें से 8.66 फीसदी सैंपल पॉजिटिव आ रहे हैं. 

दुनिया में

1,17,48,842मामले
47,68,920सक्रिय
64,41,331ठीक हुए
5,38,591मौत
कोरोनावायरस अब तक 186 देशों में फैल चुका है. July 8, 2020 10:54 am बजे तक दुनियाभर में कुल 1,17,48,842 मामलों की पुष्टि हो चुकी है और 5,38,591 की मौत हो चुकी है. 47,68,920 मरीज़ों का उपचार जारी है और 64,41,331 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है. .

भारत में

7,42,41722752मामले
2,64,9445387सक्रिय
4,56,83116883ठीक हुए
20,642482मौत
भारत में, 7,42,417 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जिनमें 20,642 मौत शामिल हैं. July 8, 2020 8:00 am बजे तक भारत में सक्रिय मामलों की संख्या 2,64,944 है और 4,56,831 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है.

राज्यवार व जिलावार विवरण

राज्यमामलेसक्रियठीक हुएमौत
2171215134
893131614
1185583296
9250224
211971178
11200340
9745825
25213
268151498
15301912
11098571
41615
190390
739
115695
81
1185943616
45842
711164545
163665
5894272
2415161
3452111
27
3415110
65026
275184
14
276121879
11012366
162871506
3137
10097571
3352350
6703217
424
15627343
3237149
11768189
6225
37550778
8853356
26720405
197717
21404716
4357408
16575297
47211
17999495
4075182
13645310
2793
299681332
9514796
19627518
82718
1028312008
25449
742172129
316550
12522362
4179
8329447
14
125
55
705
0
12570445
3182151
9284287
1047
23837850
7243270
15790555
80425
1476
725
751
0
930128
48223
434103
142
2766
169
10513
2
625
382
243
0
0
0
0
0
2996149
870111
210436
222
170424
455
124829
1
104136
20436
836
1
8931256
3389170
539981
1435
10836
282
79027
11
6749258
2020192
455460
1756
323069
56633
262135
431
143040
6593
77137
0
4945
864
401
71
80
36
43
1
197
64
133
0
0
0
0
0
अगर टेस्टिंग की बात करें तो 7 जुलाई को अब तक सबसे बड़ी संख्या टेस्टिंग की गई है. पिछले 24 घंटों में 2,62.679 सैंपल टेस्टिंग हुई है. देश में वायरस कां संक्रमण फैलने के बाद से 7 जुलाई तक देश में 1,04,73,771 सैंपलों की टेस्टिंग की जा चुकी है. यह थोड़ी राहत की बात है कि संक्रमण के लगातार बढ़ती संख्या के बीच टेस्ट की संख्या में भी लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में टेस्टिंग लैब्स की संख्या में बढ़ोतरी करने के चलते टेस्ट की संख्या में इजाफा देखने को मिला है. देश में 1115 टेस्टिंग लैब्स बढ़ाने का ही नतीजा है कि अब तक देश में एक करोड़ से ज्यादा लोगों का कोरोना टेस्ट हो चुका है.
बता दें कि मंगलवार को उसके पिछले 24 घंटों के भीतर देश में 22,252 नए COVID-19 मामले दर्ज किए गए थे, वहीं 467 मरीज़़ों ने जान गंवाई थी. 
© all rights reserved
made with by templateszoo